पानी को गलत मात्रा में और गलत तरीके से पीने से होने वाली समस्याएँ 

दोस्तों हम में से ज्यादातर लोगों को पानी इतना साधारण लगता है कि हम यह सोचते हैं।  हम जब चाहे जैसे चाहे और जितनी मात्रा में चाहे पानी पी सकते हैं। लेकिन हमारा ऐसा सोचना बिल्कुल गलत है क्योंकि पानी दिखने में जितना साधारण लगता है। हमारे शरीर के सभी अंगों को ठीक तरह से काम करने और शरीर में बनने वाले जहरीले जहरीले पदार्थों को बाहर निकालने में उतना ही जरूरी होता है।  पेट से लेकर त्वचा तक और वजन घटाने से लेकर वजन बढ़ाने तक पानी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए पानी पिने की सही मात्रा , पानी पीने का सही समय और पानी को पीने से क्या-क्या फायदे और क्या-क्या नुकसान होते हैं। अगर इस बारे में जानकारी होना बहुत जरुरी है।

हमारे शरीर के लिए पानी इतना जरूरी क्यों है

दोस्तों हमारे शरीर में 60 से 70% पानी होता है।  हमारे द्वारा किए गए पानी का इस्तेमाल हमारे आंतरिक अंगों जैसे कि किडनी,लीवर,फेफड़े और पाचनतंत्र और लगभग शरीर के सभी हिस्सों को ठीक तरह से काम करने और सबसे ज्यादा हमारे शरीर की कोशिकाओं के जिंदा रखने के लिए मदद करता है।

अब सवाल यह आता है कि 1 दिन में कम से कम और ज्यादा से ज्यादा कितना पानी पिया जा सकता है और अगर आपके शरीर में पानी की कमी हो गई है तो आप उसका किस तरह से पता लगा सकते हैं

दोस्तों शरीर में पानी की कमी होते ही आप के पेशाब का रंग यानी कि मूत्र का रंग पीला हो जाता है. पाचन शक्ति कमजोर होने लगती है। चेहरे और शरीर की त्वचा धीरे-धीरे रूखी बेजान और ढीली पड़ने लगती है।  और अगर शुरू में ही पानी पीने के सही तरीके पर ध्यान ना दिया जाए तो यह सभी लक्षण भविष्य में गंभीर विराट बीमारी का रूप भी ले सकते हैं।  इसलिए प्रत्येक दिन एक नियमित मात्रा में पानी व पीना बहुत जरूरी होता है।

दिन भर में कितना पानी पीना चाहिए

दिन भर में कितना पानी पीना चाहिए। यह जानने के लिए हमें यह जानना होगा कि पानी में क्या-क्या होता है।  पानी कौन-कौन सी समस्याओं में फायदा पहुंचाता है। दोस्तों पानी में जीरो कैलरी होती है।  लेकिन पानी हमारे शरीर  से जहरीले पदार्थों को बाहर निकालने में बहुत मदद करता है। पानी हमारी त्वचा को निखरता है। दिमागी ताकत को बढ़ाता है।  पाचन क्रिया को ठीक रखता है। पानी  हमारे शरीर के लगभग सभी अंगों को ठीक तरह से काम करने के लिए बहुत ज्यादा मदद करता है।

यही वजह है कि दोस्तों हम खाने के बिना काफी लंबे समय तक रह सकते हैं। लेकिन पानी के बिना कुछ दिन भी जीवित रह पाना बहुत मुश्किल हो जाता है। पानी के बिना रहना  बिल्कुल संभव नहीं है। क्योंकि मल,पसीने ,पेशाब और सांस लेने की प्रक्रिया में रोजाना हमारे शरीर से 2 लीटर पानी बाहर निकलता है। इस पानी को रिस्टोर करना बहुत ज्यादा जरूरी होता है।  एक आदमी को कितना पानी पीना चाहिए यह उसकी सेहत और वह किस वातावरण में रहता है ,उसके वजन और उसकी फिजिकल एक्टिविटीज पर निर्भर करता है।

लेकिन एक सामान्य व्यक्ति को एक  दिन में ढाई से तीन लीटर पानी पीना चाहिए। मतलब हमें रोजाना आठ से 12 गिलास पानी जरूर पीना चाहिए और गर्मी के सीजन में हमें पानी पीने की मात्रा को बढ़ा देना चाहिए। जो लोग एक्सरसाइज है कोई भी फिजिकल एक्टिविटी करते हैं उन्हें आम आदमी के मुकाबले में ज्यादा पानी पीना चाहिए।  क्योंकि उनके शरीर में पानी की खपत ज्यादा मात्रा में होती है। पानी किस तरह का होना चाहिए मतलब पानी गर्म होना चाहिए या ठंडा होना चाहिए या फिर नॉर्मल होना चाहिए

ज्यादा पानी पीने से शरीर को कोई नुकसान भी हो सकता है क्या

जरूरत से अधिक मात्रा हर चीज की नुकसानदायक होती है। ज्यादा पानी पीने से हमारे किडनी का काम बढ़ जाता है।  खून में सोडियम के कम होने के चांसेस बहुत ज्यादा हो जाते हैं।  ऐसा बहुत ही कम होता है। क्योंकि अक्सर लोग उतना पानी नहीं पी पाते जितना कि पानी पीने की लिमिट होती है।  ऐसा तब होता है जब कोई व्यक्ति चार से पांच लीटर पानी से भी ज्यादा पानी पीता हो।

यह भी पढ़े :-कड़वे करेले खाने के फायदे || जानिए किन लोगो को करेला नहीं खाना चाहिए 

एक बार में कितना गिलास पानी पीना चाहिए

कुछ लोगों को लगता है कि पानी को जब चाहे और जैसे चाहे पिया जा सकता है।  लेकिन ऐसा सोचना बिल्कुल भी सही नहीं है।  क्योंकि पानी को अलग-अलग तरीके से पीने से इसका शरीर पर अलग-अलग तरीके से असर होता है। इसलिए पानी हमेशा बैठ कर और धीरे-धीरे पीना चाहिए। जैसे कि पानी को मुंह में रखकर चार से पाँच सेकंड तक उसे इधर-उधर घुमाकर फिर निंगले।  ऐसा करने से हमारे मुंह में मौजूद लार पानी के साथ पेट में जाकर पेट की एसिडिटी प्रॉपर्टीज को शांत करती है।  जिससे कि पाचन शक्ति को बढ़ाने में बहुत ज्यादा मदद मिलती है।

लेकिन जब हम खड़े होकर पानी पीते हैं।  तो हमारी किडनी उसे ठीक तरह से फिल्टर नहीं कर पाती है। खड़े होकर पानी पिने से भविष्य में जोड़ों के दर्द होने के चांसेस बहुत ज्यादा हो जाते हैं। इसलिए पानी हमेशा बैठ कर धीरे-धीरे तीन से चार सांसों में ही पीना चाहिए।  एक बार में ही एक या डेढ़ गिलास या जितनी प्यास हो उतना ही पानी पीना चाहिए। क्योंकि एक बार में बहुत ज्यादा पानी पी लेने से हमारी किडनी उसे ठीक तरह से फ़िल्टर नहीं कर पाती है। पानी हमारे शरीर में इस्तेमाल हुए बगैर ही शरीर से बाहर निकल जाता है।

पानी गर्म ठंडा या फिर नॉर्मल कैसा होना चाहिए

ठंडा पानी पीने से हमारे शरीर में क्या होता है ?

दोस्तों कोई भी ठंडी चीज हम खाते हैं या  पीते हैं तो हमारा शरीर पहले उसे गर्म करता है।  फिर उसे काम में लेता है।  पानी के साथ भी कुछ ऐसा ही होता है।  जब हम फ्रिज में  रखा ठंडा पानी पी लेते हैं। तो वह हमारे शरीर में जाकर पहले गर्म होता है और फिर शरीर पानी को इस्तमाल करता है। इस प्रक्रिया में हमारे शरीर की बहुत ज्यादा अनर्जी वेस्ट हो जाती है।  हमारे शरीर को भी इस पानी को इस्तेमाल करने के लिए तब तक इंतजार करना पड़ता है। जब तक यह पानी हमारे शरीर में गर्म नहीं हो जाता है। साथ ही साथ ठंडा पानी हमारे द्वारा खाए गए खाने को बहुत ही ज्यादा सख्त बना देता है।  जिससे हमारी पाचन क्रिया बहुत धीमी पड़ जाती है और कब्ज होने के चांसेस बहुत ज्यादा हो जाते हैं।  इसलिए पानी हमेशा नॉर्मल या फिर हल्का गर्म  ही पीना चाहिए।  क्योंकि हल्के गर्म पानी को हमारा शरीर तुरंत काम में ले लेता है। हमारे द्वारा खाए गए खाने को तोड़ने में भी हल्का गर्म पानी बहुत मदद करता है। हल्के गर्म पानी से पाचन शक्ति बढ़ती है और पेट भी खुलकर साफ हो पाता है।

यह भी पढ़े :-किस कारण होता है शुगर डायबिटीज (शुगर)को ठीक करने के उपाय

पानी कब कब पीना चाहिए और कब कब नहीं पीना चाहिए

दोस्तों यह वह बात है जहां पर अक्सर लोग गलती करते हैं और बीमारी के शिकार हो जाते हैं। पानी कब पीना चाहिए। इससे ज्यादा जानना यह जरूरी है कि पानी कब नहीं पीना चाहिए।  इसलिए पहले हम यह जान लेते हैं कि पानी कब नहीं पीना चाहिए और फिर हम जानेंगे कि पानी कब पीना चाहिए।

पानी कब नहीं पीना चाहिए

वैसे तो खाना खाते वक्त और खाना खाने से पहले या खाना खाने के बाद में एक या दो घूंट पानी पीने में कोई बुराई नहीं है। जबकि खाना खाने से पहले एक या दो घूंट पानी पीने से सूखा खाना भी गले से आसानी से उतर जाता हैं और हिचकी भी नहीं आती है। लेकिन यहां पर एक या दो घूँट से सिर्फ यह मतलब है कि गला भीगने तक का ही पानी पीना चाहिए। जबकि खाना खाने के दौरान गिलास भरकर या ज्यादा मात्रा में पानी पीना बिल्कुल भी सही बात नहीं है। क्योंकि खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीने से यह हमारे द्वारा खाए गए खाने को बहुत ही ज्यादा पतला बना देता है।  जिसकी वजह से हमारे पेट में पाचक रस भी सही से नहीं निकल पाते हैं।  जिसकी वजह से पाचन क्रिया बहुत धीमी पड़ जाती है।  खाना खाने के एक  घंटे बाद ही पानी पीना चाहिए।

रात में सोने से पहले या फिर अचानक नींद खुलने पर पानी पीकर सोना 

दिन में जिस तरह पानी पीना हमारे लिए फायदेमंद होता है।  उसी तरह रात में पानी पीना हमारे लिए नुकसानदायक होता है। क्योंकि सोते समय हमारा शरीर एक्टिव नहीं रहता। जिसकी वजह से पानी हमारे शरीर में इस्तेमाल हुए बिना ही किडनी में फिल्टर होने के लिए चला जाता है।  जहां यह हमारी किडनी को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाता है। नींद से उठ कर बार-बार टॉयलेट जाना भी पड़ सकता है। जिससे कि दोबारा नींद आने में बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। जितना हो सके दिन के समय में ही पानी को पीने की लिमिट को पूरा करना चाहिए। साथ ही पानी पीने के बीच 45 मिनट से एक घंटे का अंतराल  जरूर रखना चाहिए। क्योंकि अगर हम बार-बार पानी पीते हैं।  तो पानी हमारे शरीर में इस्तेमाल हुए बिना ही मूत्र के द्वारा बाहर निकल जाता है।  बार बार पेशाब आने की समस्या भी शुरू हो सकती है। इसलिए पेशाब करने और पानी पीने के बीच कम से कम 20 मिनट का अंतराल जरूर रखें। ताकि हमारी किडनी को आराम करने का थोड़ा टाइम या समय मिल सके।

फल खाने के बाद पानी पीना चाहिए या नहीं  

अगर आप खीरे और टमाटर जैसी चीजों को कच्चा खाते हैं। उसके तुरंत बाद पानी बिल्कुल भी नहीं पीना चाहिए। केला,अनार,संतरा और तरबूज जैसे बाकी के फल खाने के बाद भी तुरंत पानी बिल्कुल नहीं पीना चाहिए।  क्योंकि ऐसा करने से खाई हुई चीज बहुत ज्यादा सख्त हो जाती है। जिससे पाचन क्रिया धीमी पड़ जाती है। कुछ लोगों को सर्दी जुकाम की समस्या भी हो जाती है। साथ ही साथ है अगर आप चाय-कॉफी और सूप का सेवन करते हैं।  तो उसके तुरंत बाद आपको पानी बिल्कुल नहीं पीना चाहिए। क्योंकि गर्म चीज खाने के बाद अगर आप तुरंत ठंडी की चीज खा लेते हैं तो आपके मसूड़ों और दांतों को नुकसान पहुंचता है।

कब का पानी पीना चाहिए मतलब पानी पीने का सही समय क्या है 

दोस्तों जिस तरह हम खाना खाने से पहले प्लेट को धोकर साफ करते हैं और फिर उसमें खाना खाते हैं। सुबह उठकर कुछ खाने पीने से पहले हमें अपने पेट की सफाई जरूर करनी चाहिए।  जिसके लिए पानी से बेहतर और कुछ भी चीज नहीं है। सुबह खाली पानी पिने से रात को सोते समय पेट में बनने वाले जहरीले पदार्थों की  सफाई हो जाती है। लेकिन जो लोग खाली पेट बिना पानी पिए ही कुछ खाते या पीते हैं। तो यह बिल्कुल ऐसा ही हो जाता है कि जैसे झूठी प्लेट को बिना साफ किए ही उसमें खाना खा लेना। इसलिए 1 से 2 गिलास पानी सुबह खाली पेट जरूर पीना चाहिए।

यह भी पढ़े :-अनार खाने के फायदे और अनार खाने के नुकसान

एक गिलास पानी खाना खाने से एक घंटे पहले या खाना खाने के एक  घंटे बाद पीना चाहिए। उसी तरह रात के समय में पानी कम मात्रा में पीना चाहिए।  रात को खाना खाने के दो घंटे बाद पानी की जगह दूध का सेवन करना चाहिए। क्योंकि दूध में मौजूद प्रोटीन पूरी रात धीरे-धीरे शरीर को एनर्जी  प्रदान करता है।  दूध  दिमाग को शांत करने अच्छी नींद लाने में बहुत ज्यादा मदद करता है।

दिन में आप जब भी पानी पिए तो दो बार के पानी पीने के बीच लगभग 1 घंटे के अंतर् जरूर रखें। पीने का खास ख्याल रखें।  ताकि पूरे दिन में ढाई से तीन लीटर पानी पिया जा सके।  अगर आप धूप से होकर आते हैं या रनिंग एक्सरसाइज करते हैं। तो उस दौरान एक बार में गिलास भर के पानी बिल्कुल भी नहीं पीना चाहिए। क्योंकि उस वक्त हमारे शरीर का टेंपरेचर हाई रहता है। इसलिए उस वक्त ज्यादा मात्रा में पानी पीने से हमारे शरीर को फायदे की बजाय नुकसान हो सकता है।  एक्सरसाइज या वेटलिफ्टिंग में भी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

एक्सरसाइज के दौरान एक चौथाई गिलास या एक या दो घूंट पानी पीना चाहिए। एक्सरसाइज खत्म करने के आधे या एक घंटे बाद गिलास  भर कर पानी पी सकते हैं। लेकिन एक्सरसाइज के दौरान थोड़ी-थोड़ी मात्रा में पानी पीना चाहिए।  पानी का इस तरह से इस्तेमाल करने से हमारे सेहत से जुड़ी काफी प्रॉब्लम ठीक हो जाती है।  साथ ही साथ हमारा पाचन भी ठीक रहता है। जिसकी वजह से वजन घटाने वजन बढ़ाने में बहुत मदद मिलती है। क्योंकि अगर किसी व्यक्ति का पाचन ठीक नहीं है।  तो वजन का बढ़ाना संभव ही नहीं है। पानी पीने के इस तरीके को  कुछ हफ्तों तक अपनाकर आपको अपनी सेहत को सुधार सकते है।

पानी पिने के नियम

हम सभी स्वस्थ जीवन चाहते हैं इसके लिए हम कई उपाय भी करते हैं।  जैसे  कि जिम जाकर एक्सरसाइज करना योग करना व्यायाम करना और कई बार हम डाइटिंग भी शुरू करना शुरू कर देते हैं।  लेकिन हम छोटी-छोटी बातों को नजरअंदाज कर देते हैं। जैसे कि पानी हम पानी को कभी भी कैसे भी पी लेते हैं।  लेकिन यदि हम पानी को सही समय पर व सही तरीके से पिए तो हम खुद को कई बड़ी बीमारियों से बचा सकते हैं। तो इसलिए दोस्तों इस पोस्ट में मैं आपको राजीव दीक्षित द्वारा बताए गए पानी पीने के उन नियमों के बारे में बताऊंगी।

दोस्तों हमारे शरीर का 60% हिस्सा पानी से मिलकर बना है। पानी हमारे शरीर से किसी ना किसी रूप में निकलता रहता है।  इसलिए हमें हमेशा पानी की जरूरत बनी रहती है। इसीलिए एक स्वस्थ व्यक्ति को रोजाना दो से तीन लीटर पानी जरूर पीना चाहिए।  जिससे हम  दिल से जुड़ी कई बीमारियों से भी बच सकते हैं।

यह भी पढ़े :-दूध के फायदे और नुकसान ,दूध पीने का सही समय और सही तरीका

सुबह उठाकर पाने जरूर पिएं

आप सुबह उठते ही खाली पेट पानी पिएंगे तो जितने भी टॉक्सिन आ साल भर में आपके शरीर में जमा हुए हैं। वह पानी के साथ आपके शरीर से बाहर निकल जाएंगे। इसलिए जब भी आप उठते हैं तो उठते ही एक से दो गिलास पानी जरूर पिएं। अगर यह पानी हल्का गर्म है तो इसका फायदा दुगना हो जाएगा। यह पानी आपके शरीर के पाचन को बढ़ाता है और साथ ही सोते समय आपके शरीर में आए पानी की कमी को भी दूर करता है।

खाना खाने से आधा घंटा पहले पानी जरूर पियें 

खाना खाने से आधा घंटा पहले खाना खाने से पहले खाना खाने से पहले आधे घंटे पिया गया पानी। आपकी स्वाद की ग्रंथि को जगाता है।  साथ ही पेट की भीतरी वालों को मॉइस्चराइज करता है।  ताकि खाया गया एसिड  आपको नुकसान ना पहुंचा सके।  साथ ही पानी जरूरत से ज्यादा खाना खाने से भी बचाता है। तो दोस्तों वजन कम करने का यह एक बहुत ही आसान तरीका है। इसलिए आप खाने से एक घंटे पहले एक गिलास पानी जरूर पिए। खाना खाने के बीच में या खाना खाने के तुरंत बाद पानी बिल्कुल ना पिए।

जब आप अस्पताल या इन्फेक्शन वाली जगह पर जाए 

कई बार ऐसा होता है कि किसी बीमार व्यक्ति को देखने के लिए अस्पताल जाना पड़ता है।  किसी कारणवश हम ज्यादा इन्फेक्शन वाली जगह के संपर्क में होकर आते हैं।  तो ऐसा होने पर आप घर में आकर एक गिलास पानी जरूर पिएं।  ऐसा करके आप अपने शरीर को इंफेक्शन साफ करने का एक मौका दे रहे हैं।

एक्सरसाइज करने के बाद एक्सरसाइज करने से पहले 

एक्सरसाइज करने के बाद एक्सरसाइज करने से पहले  पानी जरूर पिएं। ताकि एक्सरसाइज करने के बाद ऑक्सीजन की जो कमी शरीर में आई है उसकी पूर्ति की जा सके।

जब थका हुआ महसूस करे 

जब आप थका हुआ महसूस करें। तो आपको ज्यादा पानी पीना चाहिए। ऐसा करने से आपके शरीर में आए ऑक्सीजन की कमी को पानी के जरिए पूरा किया जा सकता है।

पानी को गलत मात्रा में और गलत तरीके से पीने से होने वाली समस्याएँ

अपचन,गैस, लीवर की कमजोरी, सुस्ती आना, गुर्दे की पथरी ,रोग प्रतिरोधक क्षमता का कम हो जाना, बार बार बीमार पड़ना, स्किन एलर्जी ,दाद ,खुजली ,चेहरे पर पिंपल्स और दाग धब्बे का होना वाइटहेड्स ब्लैकहेड्स त्वचा का बहुत ज्यादा ऑइली या बहुत ज्यादा ड्राई होना खाया पिया शरीर को ना लगना जोड़ों में दर्द होना शरीर में अनचाही जगह पर कब्जी का चर्बी का जमना सर दर्द और वजन घटाने या बढ़ाने में दिक्कत महसूस करना बालों का झड़ना जैसी कई समस्याएँ पानी को गलत तरीके और गलत मात्रा में पीने से हो सकती है।


 

गोरा होने के उपाय जिनकी मदद से आप हमेशा के लिए गोरा हो सकते है

Height || तेजी से हाइट कैसे बढ़ाये || हाइट बढ़ाने के तरीके

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *