बाल झड़ना, डैंड्रफ और बाल पकने का असली कारण

दोस्तों आज का ज्यादातर लोगों में बालों का झड़ना,डेंड्रफ,बालों का पतलापन और बालों का बहुत ज्यादा पतला होना और वक्त से पहले ही बालों पर सफेद हो जाना एक बहुत ही आम बात है। लेकिन जब भी बालों से जुड़ी कोई समस्या शुरू होती है। तो अक्सर लोग ऐसी चीजों पर ज्यादा ध्यान देते हैं। जिसे बालों में लगाकर प्रॉब्लम को दूर किया जा सके। लेकिन ऐसा सोचना बिल्कुल ही गलत है। क्योंकि बालों का झड़ना या गिरना या डैंड्रफ की समस्या हो या वक्त से पहले बालों का सफेद होना एक ऐसी समस्या है। जिसे सिर्फ बालों में कुछ लगाकर ही ठीक नहीं किया जा सकता। बल्कि बालों में लगाई जाने वाली चीजों के साथ-साथ खानपान और डेलीलाइफ में की जाने वाली कुछ गलतियों में भी सुधार करना बहुत जरूरी होता है।

इसलिए मैंने बालों की अच्छी सेहत और इसे लंबा और घना बनाने के साथ-साथ बालों का झड़ना रोकने सफेद बाल और डैंड्रफ की समस्या को दूर करने के लिए चार से पांच पोस्ट लिखने का इरादा किया है। जैस बालों के रंग और मजबूती को बरकरार रखने के लिए क्या खाना चाहिए क्या नहीं खाना चाहिए। कौन से घरेलू नुस्खे को अपने बालों में इस्तेमाल करना चाहिए। कौन-कौन सी गलतियां बालों को समस्या को और भी बद से बदतर बना देती है। इस बारे में डिटेल में जानने  की कोशिश करेंगे। ताकि आप लोगों को अपने सारे सवालों का जवाब धीरे-धीरे मिल जाए और फिर कोई दूसरी पोस्ट पढ़ने की कोई जरूरत ना पड़े।

इस पोस्ट में हम उन 20 गलतियों के बारे में जानेंगे जो कि अक्सर सुबह लोग सुबह सोकर उठने और रात को सोने तक में करते हैं। अगर आप इसमें से एक भी गलती को लगातार करते हैं। तो यह बालों की समस्या को काफी हद तक बढ़ा सकती  है। लेकिन इन 20 गलतियों में कुछ ऐसी गलतियां भी होते हैं। जिसे लोग कभी-कभी करते हैं।  जिसकी वजह से बालों का झड़ना,डैंड्रफ और बाल पकने लगते है।

बाल झड़ना, डैंड्रफ और बाल पकने का असली कारण

नहाना

दोस्तों नहाने में जो सबसे जरूरी चीज का इस्तेमाल किया जाता है। वह है पानी। लेकिन यहां पर यह समस्या है कि हम में से अक्सर लोग जितना पीने का पानी का ख्याल रखते हैं। उसका एक परसेंट भी नहाने का ख्याल नहीं रखा जाता। तो अगर पानी ही ठीक ना हो। तो चाहे बालों में कुछ भी लगा लिया जाए। बालों का झड़ना और रूखे बाल और डैंड्रफ की समस्या को दूर नहीं किया जा सकता है।दरअसल जो पानी हमारे और आपके घर में आता है। वह अक्सर दो तरीके का होता है। हार्ड वाटर और सॉफ्ट वाटर। जिसमें हार्ड वाटर नहाने के लिए बिल्कुल भी उचित नहीं है। क्योंकि इसमें कैल्शियम,मैग्नीशियम और आयरन जैसे मिनरल्स जरूरत से बहुत ही ज्यादा मात्रा में मौजूद होते हैं।

जो कि बालों को तो डैमेज करते ही हैं। साथ ही साथ कई तरह की त्वचा से जुड़ी समस्या को भी बढ़ाते हैं. लेकिन अच्छी बात यह है कि इसे आप आसानी से पहचान सकते हैं।  जो पानी आपके घर में आता है। वह हार्ड वॉटर है या फिर सॉफ्ट वाटर है। लेकिन यहां पर एक बात का ख्याल रखना जरूरी है कि हार्ड वाटर की समस्या  गांव में कम जबकि शहर में ज्यादा पाई जाती है। क्योंकि शहरों में ग्राउंड वाटर को पाइपलाइन के जरिए घरों तक पहुंचाया जाता है। इसलिए रास्ते में कई तरह के मिनरल्स पानी में घुल जाते हैं। इसे पहचानने के लिए आपको सिर्फ इतना ध्यान देने की जरूरत है कि नहाने और कपड़ा धोते वक्त जब आप साबुन का इस्तेमाल करते हैं तो उसमें झाग बनता है या नहीं।

क्योंकि हार्ड वाटर में जरूरत से ज्यादा मिनरल मौजूद होने की वजह से इसका साबुन के साथ इस्तेमाल करने से ठीक से झाग भी नहीं बनता है। जबकि इस तरह से धोया हुआ कपड़ा भी ठीक से साफ नहीं हो पाता है और धोने के बाद भी मेला ही दिखता है। इसके अलावा जिस नल से पानी आता है। अगर उसके ऊपरी हिस्से पर नमक जैसे लेयर जमी हो। तो यह भी हार्ड वाटर की पहचान होती है। अगर आपको भी अपने घर के पानी में ऐसा कुछ देखने को मिलता है। तो आपको उसे नजरअंदाज बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। हार्ड वाटर को सॉफ्ट बनाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि बाथरूम में साधारण शावर की जगह ऐसे शावर का इस्तेमाल करना चाहिए। जिसमें हार्ड वाटर को अच्छी तरह से फिल्टर करने की कैपेसिटी हो। इस तरह का शावर फिल्टर आपको ऑनलाइन भी आसानी से मिल जाएगा।

बालों में साबुन का इस्तेमाल करना

दोस्तों मैंने अक्सर लोगों को कहते हुए सुना है कि शैंपू में केमिकल होते हैं। इसलिए मैं बालों में साबुन का इस्तेमाल करता हूं। लेकिन ऐसा सोचना बिल्कुल ही गलत है क्योंकि साबुन में शैंपू के मुकाबले कहीं ज्यादा मात्रा में केमिकल मौजूद होता है। इसमें सोडियम,फैट,आर्टिफिशियल कलर और दूसरे कई तरह के केमिकल मौजूद होते हैं। जो कि इसे स्ट्रांग अलकालिन बनाता है। इसलिए इसका इस्तेमाल करने से यह स्काल्प को बहुत ज्यादा ड्राई बना देता है। जिससे कि सर में खुजली,डैंड्रफ होने के साथ-साथ बाल जड़ से भी कमजोर होकर झड़ने लगते हैं। इसलिए सब साबुन की जगह शैंपू का इस्तेमाल करना ज्यादा बेहतर विकल्प है।

गलत तरह के शैंपू का इस्तेमाल करना

दोस्तों सिर में जमी धूल मिट्टी और गंदगी को साफ करने के लिए शैंपू का इस्तेमाल करना बहुत जरूरी होता है। लेकिन साथ ही साथ सही शैंपू का चुनाव करना भी उतना ही जरूरी होता है। क्योंकि बाजार में मौजूद कुछ शैंपू ऐसे भी होते हैं। जिसमें केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। जो कि बालों को समस्या की दूर करने की बजाय उसे और भी ज्यादा बढ़ा सकता है। इसलिए शैंपू खरीदने से पहले एक बार उसको इनग्रेडिएंट्स लिस्ट को जरूर चेक करें।

अगर उसमें सोडियम लॉरिल सल्फेट,पैराबेन,परफ्यूम,आर्टिफिशियल कलर,एल्कोहल और ट्राईफ्रोजन जैसे केमिकल का इस्तेमाल किया गया है। तो ऐसे शैंपू को आपको बिल्कुल भी नहीं खरीदना चाहिए। क्योंकि इस तरीके का शैंपू आपके बाल और स्कैल्प को बहुत ज्यादा ड्राई बना देता है। जिससे कि सर में खुजली डैंड्रफ और बाल झड़ने की समस्या और भी ज्यादा तेजी से बढ़ने लगती है। इसलिए जहां तक हो सके नेचुरल या कम से कम केमिकल वाले शैंपू का इस्तेमाल करना चाहिए।

सिर को पोछना

नहाने के बाद बारी आती है। सिर को पोछने की  जहां अक्सर लोग गलती करते हैं। ज्यादातर लोग बदन हाथ चेहरा और बालों को पोछने के लिए एक ही टॉवल का इस्तेमाल करते हैं। जो कि पूरी तरीके से गलत तरीका है। क्योंकि मैंने पहले भी  अपनी पोस्टों में बताया है कि शरीर के अलग-अलग हिस्से में अलग-अलग तरह के बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। जो कि त्वचा को छू ले तो पिंपल्स की समस्या हो सकती है। अगर सिर में पहुंच जाए तो डैंड्रफ और बालों के झड़ने जैसी समस्या शुरू हो सकती है। इसलिए बदन चेहरा और सिर को पूछने के लिए अलग-अलग टॉवल का ही इस्तेमाल करना चाहिए। अगर आप  के पास डावल नहीं है। तो किसी भी साफ कपड़े का इस्तेमाल किया जा सकता है।  साथ ही साथ यह ध्यान रखना भी जरूरी है कि हमेशा ही सिर को  पोछते वक्त हल्के हाथों से ही पोछना चाहिए। क्योंकि जोर से रगड़ कर सिर को पोछने से बालों की जड़ कमजोर होकर बाल झड़ने लगते है।

गीले बालों में कंघी करना

दोस्तों जब बाल गीले रहते हैं। तो वह एक दूसरे से चिपकने के साथ-साथ उसकी जड़ भी दूसरे वालों के मुकाबले ज्यादा कमजोर होती है। इसलिए गीले बालों में कंघी करने से बालों की जड़ों पर ज्यादा जोर पड़ता है। जिससे के बालों के टूटने और झड़ने जैसी समस्या शुरू हो सकती है।

किसी दूसरे व्यक्ति की चीजों का इस्तमाल करना 

दोस्तों जब हम किसी के घर जाते हैं। तो अपने साथ चीजें साथ नहीं ले जाते हैं और जिसकी वजह से उन्हें दूसरे की चीजें इस्तेमाल करनी पड़ती है। लेकिन यहां पर एक बात का ख्याल रखना जरूरी है कि खासकर दूसरे के इस्तेमाल किए गए टॉवल,टोपी और कंघी जैसी चीजों का इस्तेमाल कभी नहीं करना चाहिए। क्योंकि जिनके पहले से ही बाल झड़ते हैं या डैंड्रफ की समस्या है। उनकी चीजों का इस्तेमाल करने से उनके सिर का बैक्टीरिया आपके सिर में ट्रांसफर होकर। बालों से जुड़ी कई तरह की समस्या पैदा कर सकता है।इसलिए हमेशा ही अपने चेहरे और बालों में खुद की चीजों का इस्तेमाल करना चाहिए।

बालों में गर्म चीजों का इस्तेमाल करना

बालों में गर्म चीजों का इस्तेमाल करना जैसे कि गर्म पानी,हेयर ड्रायर का इस्तेमाल करना और हेयर स्ट्रेटनर जैसी चीजें। क्योंकि बालों में गर्म चीजों का इस्तेमाल करने से रोम छिद्र खुल जाते हैं। बाल आसानी से झड़ने लगते हैं। अगर आपके बाल पहले से ही बहुत ज्यादा कमजोर है। तो आपको बालों में गर्मी पैदा करने वाली किसी भी चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए और साथ ही साथ बालों को टाइट बांधने से भी परहेज करना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से समय के साथ-साथ बालों की जड़ कमजोर होने लगती है और फिर बाल झड़ने लगते हैं।

बालों में स्टाइलिंग प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना 

दोस्तों आज के वक्त में खासकर लड़के बालों में जेल वैक्स या फिर हेयर स्प्रे जैसी चीजों का इस्तेमाल करते हैं। जो कि अक्सर ही बालों की समस्या का कारण बनता है। लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल भी नहीं है कि आप इन चीजों का इस्तेमाल कर ही नहीं सकते। पर इन चीजों को लगाते वक्त आप इन बातों का ख्याल जरूर रखें कि प्रोडक्ट जहां तक हो केमिकल फ्री होना चाहिए। स्टाइलिंग प्रोडक्ट का इस्तेमाल सिर्फ बालों के  ऊपरी हिस्सों पर ही करना चाहिए। ताकि बालों की जड़ों को इससे ज्यादा नुकसान ना पहुंच सके। इन चीजों का इस्तेमाल रोज ना कर कर कभी-कभी ही इन चीजों इस्तेमाल करें खासकर इस चीजें की चीजों का इस्तेमाल करने के बाद सिर को धूप से बचाने की कोशिश करें।अगर आपके बाल पहले से ही जरूरत से ज्यादा कमजोर है। तो आपको इन चीजों से दूरी बना लेनी चाहिए।

बालों में तेल ना लगाना

दोस्तों तेल बालों के लिए बहुत जरूरी होता है क्योंकि यह स्कैल्प को ड्राई होने से बचाता है। तेल बालों की जड़ों तक पहुंच कर उसे मजबूती प्राप्त प्रदान करता है। साथ ही साथ ज्यादातर तेल एंटीबैक्टीरियल होने की वजह से यह डैंड्रफ और इन्फेक्शन जैसी समस्या से काफी हद तक छुटकारा दिलाता है।

बालों में गलत तरीके के तेल का इस्तेमाल 

दोस्तों बालों में तेल लगाना जितना जरूरी होता है। सही तरीके का तेल का चुनाव भी उतना ही जरूरी होता है। क्योंकि तेल ही एक ऐसी चीज होती है। जो कि बालों को बालों की जड़ तक पहुंचकर लंबे समय तक। हमारे सिर में मौजूद रहता है। इसलिए इसका बालों पर अच्छा और बुरा दोनों तरह से असर हो सकता है। गलत तरह के के तेल का इस्तेमाल करने से बालों का झड़ना,डैंड्रफ और उम्र से पहले ही बाल सफेद होना जैसी समस्या शुरू हो सकती है। इसलिए किसी भी तेल को खरीदते वक्त उसके ऊपर लिखे गए इनग्रेडिएंट्स लिस्ट को पढ़ना बिल्कुल भी ना भूले। अगर उसमें  एल्कोहल,मिनरल आयल,सिलिकॉन ,प्रोपिलीन,ग्लाइकोल,आर्टिफिशियल कलर,परफ्यूम जैसी चीजों का इस्तेमाल किया गया हो।  तो उसे बिल्कुल भी ना खरीदे। आजकल बाजार में मिलने वाले ज्यादातर तेल में मिनरल ऑयल का तो इस्तेमाल होता ही है। जो कि बाल और त्वचा को बहुत ही नुकसान पहुंचाता है। इसलिए जहां तक हो सके नेचुरल तेल जैसे सरसो का तेल,कोकोनट आयल का ही इस्तेमाल करने की कोशिश करें।

बालों में तेल लगाकर छोड़ देना 

दोस्तों इसमें कोई शक नहीं है कि तेल बालों की अच्छी सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है। लेकिन बालों में तेल लगाकर ज्यादा देर तक छोड़ देने से यह धूल मिट्टी और पोलूशन को अपनी तरफ खींचता है। जिससे कि डैंड्रफ की समस्या शुरू होने लगती है। इसलिए नहाने से दो-तीन घंटे पहले ही बालों को तेल लगाने की कोशिश करें। उसके बाद उसे धोकर साफ कर ले। अगर आप ऐसा नहीं कर सकते तो रात को सिर में तेल लगाकर छोड़ दें और सुबह उठकर उसे धोकर साफ कर ले। अगर आपको नहाने के बाद अपने बालों में तेल लगाना है। तो बहुत ही थोड़ी मात्रा में ही बालों के ऊपरी हिस्से पर ही तेल लगाएं। क्योंकि इस तरीके से तेल लगाने से बालों में धूल मिट्टी बालों की जड़ तक बहुत कम पहुंचती है। इसलिए आप इसे पूरे दिन लगाकर भी छोड़ सकते हैं। लेकिन अगर आपके बाल झड़ते हैं तो मैं सिर्फ यही कहूंगा कि आप दिन के समय में दो-तीन घंटे से ज्यादा देर तक तेल में लगाकर बिल्कुल भी ना छोड़े।

बहुत ज्यादा स्ट्रेस लेना 

दोस्तों जिन लोगों के बाल झड़ते हैं। वह अपनी समस्या के बारे में सोच सोच कर और भी ज्यादा बढ़ा लेते हैं। लेकिन ऐसा करने से बालों की समस्या और भी तेजी से बढ़ने लगती है। क्योंकि जब भी कोई व्यक्ति किसी भी चीज की समस्या के बारे में बहुत ज्यादा सोचता या फिर फिक्र करता है। तो शरीर में स्ट्रेस हार्मोन काफी मात्रा में रिलीज होने लगता है। जिससे कि बालों का झड़ना और उम्र से पहले बालों का सफेद होने के साथ-साथ चेहरे पर चेहरे पर पिंपल हो नींद ना आने जैसी समस्या शुरू हो सकती है। इसलिए जहां तक हो सके स्ट्रेस को कम करने के लिए एक्सरसाइज और मेडिटेशन जरूर करें।दोस्तों मैंने पिंपल की समस्या से जुड़े कुछ पोस्ट लिखे है। जिन्हे आप निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते है।

यह भी पढ़े :- ब्लैकहेड्स वाइटहेड्स पिंपल कील और मुंहासों को जड़ से कैसे खत्म करे

यह भी पढ़े:- ये खाना बनता है आपके पिम्पल को बद से बदतर

यह भी पढ़े :- ये चीजे खाने से आपका पिम्पल जड़ से खत्म हो जाएगा 

यह भी पढ़े :- 20 गलतियाँ जो आपके चेहरे के पिम्पल को बद से बदतर बना देती है

ब्लड सर्कुलेशन का कम होना 

दोस्तों बालों की अच्छी सेहत के लिए सिर के ऊपरी हिस्से पर ब्लड का सरकुलेशन भी ठीक से होना बहुत जरूरी होता है। लेकिन क्योंकि सिर हमारे शरीर का सबसे ऊपरी हिस्सा होता है।  इसलिए जिन लोगों का ज्यादातर समय बैठकर गुजरता है उनके ऊपर के ऊपरी हिस्से पर ब्लड का सरकुलेशन ठीक से नहीं हो पाता है। जिसकी वजह से बाल की जड़ कमजोर होकर बाल झड़ने लगते है। इसलिए ऐसे में जरूरी है कि कोई भी शारीरिक एक्टिविटी या एक्सरसाइज का खास ख्याल रखा जाए।  इस में सिरसासन करना एक अच्छा विकल्प हो सकता है। क्योंकि इसमें सर का हिस्सा नीचे की तरफ होता है। जिससे कि सर के ऊपरी हिस्से पर ब्लड का सरकुलेशन बहुत ज्यादा अच्छे तरीके से हो हो पाता है। लेकिन अगर आप सिरसासन नहीं करते तो किसी भी तरह की एक्सरसाइज को अपनी लाइफ स्टाइल में जरूर शामिल करें।

एक्सरसाइज करने के बाद ना नहाना 

दोस्तों अक्सर लोग शाम के वक्त जिम या एक्सरसाइज करते हैं। लेकिन रात का वक्त होने की वजह से एक्सरसाइज करने के बाद नहाते नहीं है। ऐसा करना बिल्कुल गलत तरीका है। क्योंकि यह कई और यह कई तरह की बीमारी को जन्म दे सकता है। दरअसल जब हम एक्सरसाइज करते हैं। तो हमारे शरीर में चेहरे पर और पूरे शरीर पर बहुत ज्यादा मात्रा में पसीना भी निकलता है। थोड़ी देर बाद पसीना तो सूख जाता है। लेकिन पसीने में मौजूद बैक्टीरिया सिर में और त्वचा के ऊपरी हिस्से पर मौजूद होता है। जो कि बालो का झड़ना,डैंड्रफ और त्वचा से जुड़ी कई तरीके की बीमारी पैदा कर सकता है। इतना ही नहीं जब यह बैक्टीरिया हाथों के जरिए  या किसी भी तरीके से हमारे पेट में पहुंच जाता है। तो यह कई तरीके की दूसरी बीमारियों को भी जन्म दे सकता है। इसलिए नहाने का खास ख्याल रखें।

बालों में बार-बार हाथ लगाना

दोस्तों बालों में बार-बार आग लगाने से बालों की जड़ कमजोर हो जाती है। हर बार कुछ ना कुछ बाल सर से निकलकर हाथों में आ जाते हैं। हालांकि वहां पर फिर से नए बाल तो निकल जाते हैं लेकिन हेयर साइकिल की इस प्रोसेस में बालो की मोटाई कम होती जाती है। जिसकी वजह से बाल बहुत पतले और बेजान हो जाते हैं। इसलिए बालों में कम से कम ही हाथ लगाना चाहिए।अगर बालों को ठीक करना ही है तो हल्के हाथो से ही बालो को  ठीक करना चाहिए।

तकिये का गन्दा कवर 

दोस्तों सोते समय समय बालों और त्वचा पर जुडी गंदगी तकिये के कवर पर लग जाती है। जिस से की तकिया बैक्टीरिया का घर बन जाते हैं।तकिये में मौजूद बैक्टीरिया चेहरे पर त्वचा और बालों की सेहत पर बहुत बुरा असर डालता है। जो कि डैंड्रफ पैदा करने के साथ-साथ त्वचा पर पिंपल्स की समस्या को भी जन्म दे सकता है. इसलिए एक सप्ताह में दो से तीन बार तकिये कवर की सफाई जरूर करनी चाहिए।

नींद की कमी

दोस्तों नींद की कमी होने से शरीर में स्ट्रेस हार्मोन की मात्रा बढ़ने लगती है। जिससे कि बाल झड़ने के साथ-साथ शरीर में कई दूसरी बीमारी भी शुरू होने लगती है। इसलिए 7 से 8 घंटे की अच्छी नींद जरूर लेनी चाहिए।

 बालों को कलर करना

हालांकि बालों को नेचुरल चीजों से कलर करने में कोई बुराई नहीं है। लेकिन बालों में सिंथेटिक कलर का इस्तेमाल करने से यह बालों को काफी हद तक खराब कर देता है। साथ ही साथ बाल और भी ज्यादा तेजी से सफेद होने लगते हैं।  इसलिए बालों में सिंथेटिक कलर का इस्तेमाल कम से कम ही करना चाहिए।

धूम्रपान और शराब का सेवन 

दोस्तों धूम्रपान और शराब के सेवन से शरीर में जहरीले पदार्थ की मात्रा बढ़ती है। जिससे कि बाल झड़ने के साथ-साथ पूरे शरीर का सिस्टम भी बिगड़ जाता है। इसलिए शराब और धूम्रपान जैसी बुरी आदतों को छोड़ना बहुत जरूरी होता है।

एक्सेसिव मास्टरबेशन 

दोस्तों मास्टरबेशन बालों को डायरेक्टली नुकसान नहीं पहुंचाता। लेकिन इनडायरेक्टली पहुंचाता है क्योंकि जब मास्टरबेशन एक आदत बन जाती है। तो इसे करने से स्ट्रेस कम होने की बजाय और भी ज्यादा बढ़ने लगता है। जबकि ज्यादा मास्टरमेशन करने की वजह से काफी मात्रा में प्रोटीन और दूसरे जरूरी तत्व बाहर निकल जाते हैं। जिसकी खाने के जरिए पूर्ति ना होने से यह बालों के झड़ने का कारण बनता है। साथ ही साथ ज्यादा मास्टरबेशन करने से शरीर का पूरा फंक्शन ही बिगड़ जाता है। शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की कमी होने लगती है।

जिसकी वजह से  शरीर में कई तरीके की बीमारी होने के साथ-साथ। व्यक्ति समय के साथ-साथ बहुत ही कमजोर होने लगता है। इसके अलावा बालों से जुड़ी समस्या जैसे कि डैंड्रफ,बालों का रूखापन और बालों का सफेद होना शरीर में पोषक तत्वों की कमी की वजह से भी हो सकते हैं। दोस्तों मास्टरबेशन एक अलग टॉपिक है।  इसके ऊपर हमने एक पूरी पोस्ट लिख रखी। आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके इसके बारे में पढ़ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- हस्तमैथुन (Masterbation) मुठ मारने के नुकसान

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *