खाना खाने के बाद भूल कर भी न करें यह काम होगी कई बीमारियां

कहा जाता है कि अच्छा भोजन अच्छे स्वास्थ्य और लंबे जीवन की कुंजी है। इसलिए अपने आप को सेहतमंद रखने के लिए ज्यादातर लोग बाहर के भोजन को छोड़कर ज्यादा से ज्यादा घर से बना हुआ खाना खाने की कोशिश करते हैं। आपने देखा होगा कि कई लोग मांस,शराब,धूम्रपान तथा तंबाकू जैसी चीजों का बिल्कुल भी सेवन नहीं करते और हमेशा घर का सादा भोजन ही करते हैं। लेकिन बावजूद इसके वह अपने शरीर से जुड़ी किसी न किसी समस्या कमजोरिया और बीमारी से परेशान रहते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि जाने अनजाने में वह भोजन करने से जुड़े नियमों का पालन नहीं कर रहे होते। खाना खाने से पहले या खाना खाने के बाद किए जाने वाले काम या एक्टिविटीज हमारी सेहत को बहुत ज्यादा प्रभावित करती हैं।

क्योंकि यही चीजें निर्धारित करती है कि खाए गए भोजन का हमारी सेहत पर कितना और कैसा असर होगा। हम सभी सुनते आ रहे हैं कि घर पर बना भोजन पौष्टिक होता है। फल सब्जियां दूध हमें कई तरह के पोषक तत्व प्रदान करते हैं। लेकिन आजकल हर दो में से एक व्यक्ति के शरीर में खून,विटामिन,आयरन और कैल्शियम जैसे कई पोषक तत्वो की कमी पाई जाती है। क्योंकि कई लोग खाना खाने के बाद कुछ ऐसी गलती या कार्य करते हैं। जिनसे ना तो भोजन ठीक से पचता है और ना ही उसमें मौजूद पोषक तत्व हमें पूरी तरह से मिल पाते हैं। इतना ही नहीं कुछ गलतियां तो इतनी खतरनाक होती है। जो कि सीधे शरीर में कई गंभीर एलर्जी,कमजोरी और कभी ना ठीक होने वाली बीमारियों को धीरे-धीरे जन्म देती रहती है।

हमारे शरीर के लिए जितना जरूरी भोजन है उससे कई ज्यादा जरूरी इससे जुड़े नियम हैं।  अगर आप इन आसान नियमों को ध्यान में रखते हैं। तो हेल्थ से जुड़ी कई तरह की समस्याएं और बीमारियों और दवाओं से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है। मोटापा,एसिडिटी यूरिक,अर्थराइटिस,आंखों की कमजोरी,बालों का झड़ना या पकना,अस्थमा,फेफड़ों की कमजोरी ,माइग्रेन की समस्या,रात को नींद ना आना,डायबिटीज तथा दिल की बीमारियां और यहां तक कि सेक्सुअल कमजोरी जैसी सभी समस्याएं भी खाना खाने से जुड़ी कुछ साधारण गलतियों से हो सकती हैं। आइए जानते हैं कि खाना खाने के बाद किए जाने वाले कुछ ऐसे काम और गलतियों के बारे में जिन्हें आज ज्यादातर लोग कर रहे हैं।  जिन्हें हमें जल्द से जल्द बंद कर देना चाहिए।

खाना खाने के बाद भूल कर भी न करें यह काम

धुम्रपान

हम सभी जानते हैं कि धूम्रपान या स्मोकिंग सेहत के लिए हानिकारक होती है। शुरुआत में जब कोई व्यक्ति खाना खाने के बाद सिगरेट शुरू करता है। तो धीरे-धीरे यह स्मोकिंग का एक ट्रिगर बन जाता है और फिर हर बार खाना खाने के तुरंत बाद सिगरेट पीने की तलब लगने लगती है। ज्यादातर धूम्रपान करने वाले लोगों के लिए खाने के तुरंत बाद सिगरेट पीना सबसे ज्यादा आनंददायक होता है। लेकिन दुनिया भर के डॉक्टर्स खाना खाने के बाद तुरंत सिगरेट पीना। सबसे ज्यादा खतरनाक मानते हैं। क्योंकि खाने के तुरंत बाद सिगरेट से होने वाला पूरा प्रभाव दस गुना ज्यादा बढ़ जाता है। जब हम सिगरेट पीते हैं तो इसमें पाया जाने वाला निकोटीन भारी मात्रा में हमारे शरीर के खून में प्रवेश करता है।

निकोटीन हमारे खून से ऑक्सीजन को कम करता है। जिससे की पाचन प्रक्रिया में गड़बड़ी आ जाती है। इसलिए खाना खाने के तुरंत बाद धूम्रपान करने से खाए गए भोजन का असर शरीर पर पूरी तरह से नहीं हो पाता।जिससे  शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। सिगरेट के धुए में पाए जाने वाले केमिकल्स भोजन के पोषक तत्व को खत्म कर देते हैं। खाना खाने के तुरंत बाद सिगरेट पीने की यह आदत फेफड़ों का कैंसर और आंतों का कैंसर की संभावना को  50% बढ़ा देती है। डॉक्टर्स का मानना है कि भोजन के बाद पी गई। एक सिगरेट करीबन दस सिगरेट एक साथ पीने के बराबर होती है। इसलिए अगर आप भी धूम्रपान करते हैं। तो खाना खाने के कम से कम 30 मिनट बाद ही सिगरेट पिए।

लेटना और सोना

अक्सर पेट भर के खाना खाने के बाद लेटने और आराम करने का मन करता है।अगर  देखा जाए तो खाना खाने के बाद नींद भी बहुत अच्छी आती है। लेकिन भोजन के सही तरह से पकने के लिए शरीर का सीधी मुद्रा में होना सबसे बेहतर माना जाता है। क्योंकि भोजन शरीर में ऊपर से नीचे की तरफ ट्रेवल यानी की यात्रा करता है। लेटने पर या सोने पर भोजन के पचने की गति धीमी हो जाती है और भोजन तथा उसे पचाने वाले एसिड नीचे जाने की जगह कई बार ऊपर भी आने लगते हैं। ऐसे में छाती में जलन,एसिडिटी,ब्लोटिंग,अपचन और खट्टी डकारे,पेट में अल्सर और आंतों में सड़न आदि जैसी बीमारियां होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

किसी भी व्यक्ति को एक बार जब पाचन से जुड़े रोग हो जाते हैं। तो यह समस्या शरीर के सभी अंगों को प्रभावित करती है। धीरे-धीरे नई-नई बीमारियां शरीर में पैदा होती रहती है। खाना खाने के तुरंत बाद दाएं या बाएं में किसी भी मुद्रा में लेटने से शरीर का वजन बढ़ता ही है। इसलिए खाना खाने या सोने या लेटने के बीच में कम से कम एक से दो घंटे का अंतराल जरूर रखें।

चीनी से बनी चीजें खाना 

अक्सर मसालेदार या चटपटे भोजन के बाद मीठी चीजें खाने में ज्यादा आनंद आता है। कई लोग रोजाना रात को खाने के बाद कुछ ना कुछ मीठा जरूर खाते हैं। हालांकि खाने के बाद गुड,मिश्री,खांड या फलों के रस से बनी मीठी चीजें खाने में कोई समस्या नहीं है। समस्या है चीनी और उस से बनी हुई चीजों में। क्योंकि चीनी मिठास का सबसे हानिकारक स्त्रोत माना जाता है। इसका जो सबसे पहला नुकसान है। वह है हाई ग्लूकोस और हाई कैलरी। हम भोजन में अनाज दालें और सब्जियों का सेवन करते हैं। जिसमें पहले से ही ग्लूकोज पर्याप्त मात्रा में होता है। खाने के बाद चीनी से बनी चीजें शरीर में शुगर की मात्रा को तेजी से बढ़ा देती है। जिससे कि मोटापा पेट और कमर के हिस्सों में चर्बी जमा होने से डायबिटीज और किडनी से जुड़ी बीमारियां होने की संभावना समय के साथ-साथ बढ़ती जाती है। चीनी को बनाने में बहुत सारे केमिकल का इस्तेमाल होता है। जिससे चीनी एसिडिक हो जाती है। खाने के बाद चीनी से बनी मीठी चीजें भोजन को ठीक तरह से पचने नहीं देती और साथ ही साथ खून और यूरिन में भी एसिड की मात्रा को बढ़ाती है। हमेशा मीठा किसी दूसरे समय पर खाये।

खाने के तुरंत बाद पैदल चलना 

कुछ लोग मानते हैं कि खाने के तुरंत बाद वह पैदल चलना या रनिंग करना अच्छा होता है। इससे भोजन भी ठीक तरह से पचता है। वैसे खाने के बाद 100 कदम चलने की बात सही तो है। लेकिन खाने के तुरंत बाद चलना सेहत पर बुरा असर डालता है। खाना पचाने की प्रक्रिया के दौरान हमारे पाचन तंत्र में तेज ब्लड फ्लो की जरूरत होती है। जब हम खाने के तुरंत बाद पैदल चलना शुरू कर देते हैं। तो ब्लड फ्लो हमारे पाचन की जगह हमारे हाथ पैर और दूसरे सभी अंगों में तेज हो जाता है। ऐसे में पाचन प्रक्रिया तेज होने की जगह धीमी पड़ जाती है और इससे कई बार घबराहट भी हो सकती है।पैदल चलने का शरीर और पाचन प्रकिर्या या पर सही तरह से असर हो।  इसलिए भोजन करने के कम से कम बाद आधे घंटे बाद ही पैदल चलना शुरू करें।

यह भी पढ़े :- Diabetes जड़ से खत्म करने के लिए इन चीजों का सेवन जरूर करे

यह भी पढ़े :- ऐसी चीजे जिनका सेवन हमे कभी भी नहीं करना चाहिए

चाय और कॉफी पीना

चाय और काफी में टैनिक और कैफीन की मात्रा बहुत अधिक होती है। खाने के बाद इसका सेवन करने से भोजन में मौजूद आयरन और प्रोटीन शरीर पूरी तरह से एब्सॉर्ब भी नहीं कर पाता। क्योंकि टैनिक एसिड आयरन और प्रोटीन को खत्म करता है। जिससे कि धीरे-धीरे शरीर में आयरन और प्रोटीन की कमी होने लगती है और एनीमिया और कमजोरी और मोटापा तथा बाल सफेद होने जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है। चाय की तासीर गर्म होती है और चीनी के कारण यह है एसिडिक हो जाती है। भोजन के बाद चाय जैसे गर्म चीजें हाइपर एसिडिटी और त्वचा के रोगों को जन्म देती है। इसलिए भोजन के तुरंत बाद कभी भी चाय ना पिए।

नहाना 

भोजन करने के बाद नहाने के लिए कम से कम आधे घंटे का जरूर इंतजार करना चाहिए। कई लोग सुबह का नाश्ता नहाने से पहले करते हैं और नाश्ता करने के तुरंत बाद नहाने चले जाते हैं। जब शरीर में हमारा भोजन पच रहा होता है। तो हमारे पेट में ब्लड फ्लो तेज होता है और शरीर का तापमान बढ़ता है। इसलिए कई बार खाना खाने के वक्त हमें गर्मी भी लगना शुरू हो जाती है। खाना खाने के तुरंत बाद नहाने से शरीर का तापमान तेजी से गिरने लगता है और साथ ही पाचन तंत्र की बजाय शरीर की त्वचा और दूसरे अंगों में ब्लड फ्लो तेज हो जाता हैं। ऐसा होने पर भोजन के पचने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है।  दिन का भोजन करते समय भी सुबह का नाश्ता पेट में ही अपचा रहता है। जिससे कि पेट खराब होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

बहुत ज्यादा पानी पीना या ठंडा पानी पीना 

आयुर्वेदा के हिसाब से भोजन करने के बाद पानी पी लेने से शरीर में कई तरह की बीमारियां पैदा होती हैं। कई लोगों को भोजन करने के बाद बहुत सारा पानी पीने या बहुत ठंडा पानी पीने की आदत होती है। ज्यादा मात्रा में पानी पीना भोजन की प्रक्रिया को पूरी तरह से रोक देता है। जिससे भोजन पेट में ही धीरे-धीरे सड़ने लगता है और भोजन के पोषक तत्व हमें पूरी तरीके से नहीं मिल पाते हैं। कहा जाता है कि भोजन पचाने वाली जलन अग्नि पानी पी लेने से बुझ जाती है। अपचन के कारण आंतों की खराबी पेट में अल्सर,यूरिक एसिड,एसिडिटी और कब्ज शरीर में कमजोरी और ब्लाटिंग जैसी समस्याएं होने लगती है। इसलिए भोजन के बाद एक या दो घूंट ही पानी पिए और अगर पानी पीना हो तो भोजन के बीच में पिए। खाना खाने के बाद प्यास लगती हो। तो इसके लिए नींबू पानी पीना अच्छा होता है। भोजन के बाद फ्रीज का बहुत ज्यादा ठंडा पानी ना पिए। क्योंकि पाचन प्रक्रिया को खराब करने के लिए यह साधारण पानी से भी दस गुना ज्यादा हानिकारक होता है।

ब्रश करना 

वैसे तो हर किसी व्यक्ति को रात को सोने से पहले ब्रश करके अपने दांतो की सफाई जरूर कर लेनी चाहिए। लेकिन खाना खाने के तुरंत बाद ब्रश करना हमारे दांतो के लिए हानिकारक हो सकता है। खासकर नींबू संतरे और ऐसे सभी खट्टी चीजें जिनमे सिट्रिक एसिड की मात्रा अधिक होती है। उनके सेवन के बाद कुछ समय तक हमारे दांत कमजोर हो जाते हैं और ऐसे में तुरंत ब्रश कर लेने से दांतों को भारी नुकसान हो सकता है। इसलिए खाना खाने के बाद कम से कम 30 मिनट बाद ही ब्रश करना चाहिए। फ्रूट्स और सलाद हमारी सेहत के लिए भोजन से भी ज्यादा फायदेमंद होते हैं। इसलिए डॉक्टर और डाइटिशियन ज्यादा से ज्यादा सलाद और फलों का सेवन करने की सलाह देते हैं। सलाद की तासीर ठंडी होती है। इसलिए इसे हमेशा भोजन के बीच में ही या भोजन के साथ में खाना चाहिए।

भोजन खत्म होने के बाद सलाद का सेवन करने से यह पाचन प्रक्रिया को धीमा करता है। फलों में फाइबर की मात्रा अधिक होती है और इन्हें हमारी आंतो तक पहुंचने में 30 से 40 मिनट का समय लगता है। लेकिन भोजन के बाद फलों का सेवन करने से फलों और भोजन दोनों की ही पाचन प्रक्रिया गड़बड़ा जाती है और शरीर में गैस बनने लगती है। इसलिए फलों का पूरा लाभ उठाने के लिए इन्हें भोजन से अलग किसी अन्य समय पर ही खाएं।

ऐसी कई खाए जाने वाली चीजें हैं। जो कि दिखने में तो सेहतमंद लगती है। लेकिन हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालती हैं और साथ ही कई बार दो अलग-अलग परवर्ती की चीजों को। एक साथ मिलाकर खाने से होने वाले केमिकल रिएक्शन से भी कई बीमारियां पैदा होती है।

यह भी पढ़े :- भूल कर भी खाली पेट न खायें ये 10 चीज़े

यह भी पढ़े :- शरीर में इन पोषक तत्वों की कमी से झड़ते है सिर के बाल

यह भी पढ़े :- लिवर खराब होने के लक्षण और लिवर डीटॉक्स करने के नुस्खे और उपाय

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *