ये खाना बनता है आपके पिम्पल को बद से बदतर

0
17

दोस्तों पिम्पल की समस्या हमारी युवाअवस्था में हमारे शरीर के अंदर हारमोंस में आए बदलाव के कारण शुरू होता है। लेकिन जाने अनजाने में खानपान और लाइफस्टाइल में की गई गलतियों की वजह से हार्मोनल एक्ने सिस्टिक एक्ने का रूप ले लेकर पूरे चेहरे का पर फैल जाते हैं। लेकिन हमारे लिए यहां समझने वाली बात यह है कि चेहरे या शरीर के किसी भी हिस्से पर लगातार आने वाले पिम्पल को तब तक नहीं खत्म नहीं किया जा सकता। जब तक कि चेहरे पर लगाए जाने वाली चीजों के साथ साथ खानपान और लाइफस्टाइल में भी बदलाव ना कर लिया जाए।क्योंकि ज्यादातर समस्या शरीर की जड़ यानी कि पेट से ही शुरू होती है। इसलिए हमारे द्वारा खाया गया खाना पिंपल्स को शरीर के अंदर से खत्म करने में बहुत ज्यादा मदद करता है या मुख्य भूमिका निभाता है।

ये खाना बनता है आपके पिम्पल को बद से बदतर

जब भी पिम्पल की समस्या में कोई चीज खाने से मना की जाती है। तो अक्सर लोग दो ही चीजों का नाम लेते हैं ज्यादा तेल और ज्यादा मसाला मत खाना। लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि तेल और मसाले के अलावा और भी बहुत सी खाने की ऐसी चीजें होती हैं। जो कि पिंपल्स को बद से बदतर बना देती है और हमें पता भी नहीं होता। दरअसल जब भी हम कुछ भी खाते या पीते हैं। तो वह हमारे शरीर में पेट में पहुंचकर टूटता है और उसके बाद वह हमारी छोटी आत में जाता है। हमारी छोटी आत में उंगलियों की तरह दिखने वाले छोटे-छोटे उभार होते हैं। वह हमारे द्वारा खाए गए खाने से पोषक तत्व को खींचकर खून में पहुंचा देते हैं और फिर खून के जरिए हमारे पूरे शरीर में फैल जाता है। इसलिए जब भी हम अच्छी चीजें खाते हैं। तो उसका हमारे शरीर पर अच्छा असर होता है और बुरी चीजें खाते हैं तो उसका हमारे शरीर पर बुरा असर होता है।

यहां हमारे लिए समझने वाली बात यह है कि कई बार समस्या हमारे शरीर के अंदर से आ रही होती है और ज्यादातर लोगों का पैसा और समय दोनों ही चेहरे पर लगाई जाने वाली चीजों के पीछे बर्बाद हो रहा होता है। जैसा कि मैंने अपने पिछले पोस्ट में भी बताया था कि पिंपल्स को जड़ से खत्म करने के लिए क्या करे। अगर आप ने पिम्पल से जुडी हमारी पिछली पोस्ट नहीं पढ़ी। तो आप निचे दिए लिंक क्लिक करके पढ़ सकते है। आज की इस पोस्ट में हम आपको कुछ ऐसे खाने चीजों के बारे में बताएंगे जिसे पिम्पल वाले लोगों को नहीं खाना चाहिए या फिर कम मात्रा में खाना चाहिए।

यह भी पढ़े :- ये चीजे खाने से आपका पिम्पल जड़ से खत्म हो जाएगा 

यह भी पढ़े :- 20 गलतियाँ जो आपके चेहरे के पिम्पल को बद से बदतर बना देती है

यह भी पढ़े:- omega-3 क्या होता है omega-3 हमारे शरीर के लिए जरूरी क्यों है

लेकिन नहीं खाने का नाम सुनकर आप को डरने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है। क्योंकि यह मैं भी बेहतर जानता हूं कि परहेज करना कितना मुश्किल काम होता है। इसलिए मैं इस पोस्ट में जो भी खाने से मना करूंगा। उसका नहीं खाने का पीछे का कारण तो बताऊंगा ही साथ ही साथ यह भी कोशिश करूंगा कि उसका अल्टरनेट यानी कि उस चीज की जगह पर उसी जैसे कोई दूसरी खाने की चीज भी बता दूंगा। ताकि आपको परहेज करते हुए भी परहेज करने का एहसास ना हो। क्योंकि मेरे यह पोस्ट लिखने का मकसद आप लोगों को डराना नहीं बल्कि आप लोगों तक सही जानकारी पहुंचाना है।

चीजे जो पिम्पल को बढ़ाने का काम करती है

दरअसल ये चीजें हैं जो कि पिम्पल को बढ़ाने का काम करती है। मैंने इन्हे तीन कैटेगरी में बांटा है।

  • ऐसी खाने की चीजों के शरीर में जाते ही अचानक से हमारे ब्लड शुगर के लेवल को बढ़ा देती है।
  • ऐसी खाने की चीजें जिसमें हारमोंस,अमीनो एसिड और ओमेगा-6 की मात्रा ज्यादा पाई जाती है।
  • ऐसी चीजें जो पाचन और लीवर पर ज्यादा असर डालती है और शरीर में गर्मी पैदा करती है।

इन तीनों कैटेगरी में आने वाले खाने की चीजें शरीर में हार्मोन के संतुलन को बिगाड़ देती है। जिससे पिम्पल की समस्या बढ़ने लगती हैं।

ऐसी खाने की चीजों के शरीर में जाते ही अचानक से हमारे ब्लड शुगर के लेवल को बढ़ा देती है

ऐसी खाने की चीजे जिसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बहुत ज्यादा हो और फाइबर की मात्रा बिल्कुल भी जीरो या ना के बराबर हो।ऐसी खाने की चीजों के शरीर में जाते ही अचानक से हमारे ब्लड शुगर के लेवल को बढ़ा देती है। इसलिए हमे ऐसा भोजन जिसमें कार्बोहाइड्रेट और फाइबर दोनों होता है का सेवन करना चाहिए । लेकिन जब भी हम जूस निकालते हैं। तो पूरा कार्बोहाइड्रेट जूस में आ जाता है। जबकि पूरा फाइबर रेशे में निकल जाता है। जिसे हम वेस्ट पदार्थ मान कर फेंक देते हैं। इसलिए हम आसानी से समझ सकते हैं कि हमे ऐसे भोजन का सेवन करना चाहिए जिसमें कार्बोहाइड्रेट और फाइबर दोनों होता है।

लेकिन जूस निकालने के बाद फाइबर पूरी तरह से अलग निकल जाता है। जिसकी वजह से जूस शरीर में जाकर अचानक ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाता है। इसलिए जूस के ज्यादा इस्तेमाल से खासकर मोटापा,डायबिटीज और पिम्पल वाले लोगों को फायदे की बजाय नुकसान ही होता है। ऐसे भोजन जो शरीर में शुगर लेवल को बढ़ा देता है की लिस्ट में जूस,सफेद ,चावल चीनी से बनी चीजें जैसे कि केकआइसक्रीम,चॉकलेट,मिठाई ,कोल्ड ड्रिंक,कॉफी,चाय,मैदे से बनी चीजें जैसे पराठा,पूरी, समोसा,नमकीन, पूरी वाइट ब्रेड और पैकेट में मिलने वाले चिप्स वगैरह आते हैं। लेकिन अच्छी बात यह है कि आप को एकदम से परहेज करने की जरूरत नहीं है बल्कि से समझदारी से काम करने की जरूरत है आप इन चीजों के बदले में इसके जैसे ही कौन सी चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

सबसे पहले हमारे लिए यह जानना जरूरी है कि खाने की टेस्टी चीजें हमारे पिम्पल को कैसे बढ़ाती है। दोस्तों एक बात का ख्याल रखें कि खाने की कोई भी चीज डायरेक्ट पिम्पल को नहीं बढ़ाती बल्कि इनडायरेक्टली बढ़ाती है। जब भी हम कोई खराब भोजन का सेवन करते हैं। तो वह तुरंत ब्लड स्ट्रीम में घुलकर ब्लड शुगर को बढ़ा देता है ब्लड शुगर अचानक से बढ़ने के कारण हमारी पूरी बॉडी उसे रेगुलेट करने के लिए इंसुलिन पैदा करती है। इंसुलिन हमारे शरीर के हार्मोन को डिस्टर्ब करता है और तब हार्मोन त्वचा में मौजूद तेल छोड़ने वाले ग्रंथि को टारगेट करता है।

जिस की वजह से त्वचा में ज्यादा तेल पैदा होने लगता है या आयल प्रोडक्शन ज्यादा होने लगता है। हमारे चेहरे पर त्वचा के अंदर से आने वाला वाला तेल बहुत ज्यादा गाढ़ा हो जाता है। जिससे वह हमारे चेहरे पर मौजूद छोटे-छोटे रोम छिद्र से आसानी से बाहर नहीं निकल पाता है। बाद में धूल मिट्टी और बैक्टीरिया के संपर्क में आकर छोटे छिद्र को बंद कर देता है। जिससे कि पिम्पल की समस्या चेहरे पर तेजी से फैलने लगती है।

आपको जूस पीने की जगह पर को सीधा फल खाना चाहिए। सफेद ब्रेड की जगह ब्राउन ब्रेड का इस्तेमाल करना चाहिए। सफेद चावल की जगह ब्राउन राइस का इस्तेमाल करें। र मैदे से बनी चीजों की बजाय फुल गेहूं के आटे से बनी चीजों का सेवन करें। लेकिन बाहर का खाना पैकेट में मिलने वाली चीजें और चीनी से बनी चीजों से आपको हर हाल में परहेज करना ही चाहिए। क्योंकि उन चीजों में शरीर को फायदा पहुंचाने वाले कोई भी चीज नहीं होती है

पिम्पल वाले लोगो को बाहर का खाना पैकेट मिलने वाली चीजों का सेवन करे या नहीं

पिम्पल वाले लोगो को बाहर का खाना पैकेट मिलने वाली चीजें और चीनी से बनी चीजों से आपको हर हाल में परहेज करना ही चाहिए ।क्योंकि इन चीजों में शरीर को फायदा पहुंचाने वाले कोई भी चीज नहीं होती है। बल्कि इसमें शुगर की मात्रा होने की वजह से। यह चीजें शरीर में जाने के बाद पिम्पल को तो बढ़ाती है। साथ ही साथ चेहरे पर दाग धब्बे झुर्रियां और पाचन में गड़बड़ी कोलेस्ट्रोल और हाई ब्लड प्रेशर मोटापे और कई दूसरी बीमारी को जन्म देता है। अगर आपको मीठी चीजें खाने का बहुत ज्यादा मन करता है तो चीनी तो नहीं लेकिन चीनी की जगह आप धागे वाली मिश्री या फिर गुड से बनी चीजों का सेवन कर सकते हैं।

पिम्पल वाले लोग चीनी से बनी चीजों का सेवन करे या नहीं

म्पल वाले लोग चीनी की जगह आप धागे वाली मिश्री या फिर गुड से बनी चीजों का सेवन करे । क्योंकि गुड़ और चीनी और मिश्री चीनी के मुकाबले ज्यादा में बेहतर ऑप्शन है। क्योंकि मैंने धागे वाली मिश्री के बात इसलिए की है। क्योंकि जो चीनी की तरह दिखने वाली मिश्री होती है। वह दरअसल चीनी का ही एक दूसरा रुप होता है। जो मिश्री के नाम में बाजार में बेचा जाता है।

ऐसी चीजे जिसमे एमिनो एसिड और ओमेगा-6 की मात्रा अधिक होती है

इस कैटेगरी में ऐसी खाने की चीजें आती है। जिसमें हार्मोन अमीनो एसिड और ओमेगा-6 की मात्रा अधिक होती है। इसमें सबसे पहला नाम आता है मूंगफली और सोया प्रोडक्ट का। जैसे कि सोयाबीन ऑयल सोया मिल्क और सोया प्रोटीन जैसी चीजें। दरअसल सोया प्रोडक्ट में फाइटोएस्ट्रोजन नाम और नाम का हार्मोन और omega-6 की मात्रा बहुत ज्यादा पाई जाती है। उसी तरह मूंगफली और omega-6 की मात्रा अधिक पाई जाती है। इन चीजों में पाए जाने वाला हार्मोन हमारे शरीर के हार्मोन के संतुलन को बिगाड़ता है।जबकि इनमें omega-6 की मात्रा ज्यादा होने की वजह से यह शरीर में गर्मी पैदा करता है। जिससे कि चेहरे पर ज्यादा आयल निकलने लगता है और पिंपल बढ़ने लगते हैं। ख्याल रखें कि इन चीजों से उन्हें ही परहेज करने की जरूरत है। जो कि पहले से ही पिम्पल की समस्या या फिर किसी भी तरह की हार्मोन से जुडी समस्या का सामना कर रहे है।

जिन लोगो को ऐसी कोई प्रॉब्लम नहीं है। वह इनका सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा हाल ही में की गई एक स्टडी में वे प्रोटीन और डेरी प्रोडक्ट जैसे कि दूध,मक्खन और पनीर जैसी चीजों के ज्यादा इस्तेमाल से भी चेहरे पर लगातार पिम्पल फैलने के लिए जिम्मेदार माना गया है। हालांकि दही लिमिटेड मात्रा में इस्तेमाल करने में कोई समस्या नहीं है। क्योंकि यह चीजें लेक्टोज फ्री होती है और खासकर दही में प्रोबायोटिक के गुण भी पाए जाते हैं। लेकिन क्योंकि यह भी एक मिल्क प्रोडक्ट है इसलिए इसका भी ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़े :- वजन बढाने के सबसे जबरदस्त नुस्खे और मोटा होने का सही तरीका

यह भी पढ़े :-  करेला किस तरह करता है आपकी वजन घटाने में मदद 

यह भी पढ़े :- पानी को गलत मात्रा में और गलत तरीके से पीने से होने वाली समस्याएँ 

मुझे पता है आप ऐसे बहुत से लोग यह सोच रहे होंगे कि दूध और वे प्रोटीन तो बहुत ही बहुत ही हेल्थी होता है। इसलिए इसे बहुत से लोग इस्तेमाल करते हैं। यहां आपको समझदारी से काम लेने की जरूरत है। दूध और वे प्रोटीन सेहत के लिए बहुत ही अच्छा होता है इसमें कोई शक नहीं है। लेकिन यहां समझने वाली बात यह है जिन लोगों को पिम्पल की समस्या नहीं है। उन्हें उनका सेवन करने से सिर्फ फायदा ही होगा। लेकिन जिन्हें पहले से ही पिम्पल की प्रॉब्लम है। उसको इसके फायदे के साथ-साथ नुकसान भी उठाना पड़ सकता है क्योंकि दूध में नेचुरल एस्ट्रोजन नाम का हार्मोन होता है। इसलिए इससे ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करने से हमारे शरीर में हार्मोन के संतुलन को बिगाड़ता है और साथ ही साथ वह प्रोटीन और दूध दोनों में ही लेक्टोंस नाम का नेचुरल शुगर होता है।

इसलिए ऐसे लोग जिन्हें लेक्टोस से एलर्जी है। उनके पाचन पर भी इसका बहुत बुरा असर पड़ता है। इतना ही नहीं इन दोनों चीजों में कुछ ऐसे अमीनो एसिड भी पाए जाते हैं। जिससे हमारे बॉडी को ज्यादा मात्रा में इंसुलिन रिलीज करने लगती है। जिससे हमारे त्वचा की ऊपरी उखड़ने लगती है। जिसकी वजह से पिम्पल की प्रॉब्लम भी बढ़ने लगती है। लेकिन आपको इन्हें एकदम से बंद करने की जरूरत नहीं है। आप कभी-कभी दूध से बनी चीजों का भी सेवन कर सकते हैं। दूध से मिलने वाले कैल्शियम के के लिए आप किसी भी हरी पत्ती वाली सब्जी को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। क्योंकि पत्तेदार सब्जियों में भी काफी मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है।

एक सवाल यह भी उठता है कि जो लोग एक्सरसाइज करते हैं। उन्हें प्रोटीन के टारगेट को पूरा करने के लिए कौन सी चीज का इस्तेमाल करना चाहिए। जब तक कि आपके चेहरे पर पिम्पल की समस्या ठीक नहीं हो जाती। तो ज्यादा प्रोटीन लेने से परहेज कीजिए।जबकि उतना ही प्रोटीन लिजिए। जिससे कि आपके मसल कम ना हो। यानी कि रिजर्व रह सके और प्रोटीन के टारगेट को हिट करने के लिए एग वाइट का इस्तेमाल कीजिए यानी के अंडे के सफेद भाग का इस्तेमाल कीजिए। अगर आप वेजिटेरियन है तो आपको प्लांट बेस्ट प्रोटीन सप्लीमेंट आपके लिए सबसे बेहतर ऑप्शन हो सकता है।

ऐसी चीजें जो पाचन और लीवर पर ज्यादा असर डालती है पिम्पल की समस्या उतपन्न करती है

ऐसी चीजें जो पाचन और लीवर पर ज्यादा असर डालती है और शरीर में गर्मी पैदा करती है। जिनमे बहुत ज्यादा फैट होता है। ऐसा भोजन खासकर जिसमें ट्रांसफैट और ऐनिमल फैट ज्यादा होता है।पिम्पल की समस्या उतपन्न  करता है। जैसे कि रिफाइंड ऑयल ,गोश्त,अंडा और तली हुई चीजें।खासकर रिफाइंड ऑयल और ट्रांसफैट में ओमेगा -6 की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। जिसकी वजह से पिम्पल की समस्या तो होती ही है। साथ ही साथ शरीर में कोलेस्ट्रॉल और इन्फ्लेमेशन प्रोड्यूस करके हमारे ओवरऑल हेल्थ पर भी बहुत बुरा असर डालता है। इसलिए रिफाइंड के तेल की जगह सरसों के तेल या फिर नारियल के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए।

इसके अलावा रेड मीट और अंडे के पीले वाले हिस्से में फैट की बहुत ज्यादा मात्रा होती है। इसलिए इसके लगातार सेवन करते रहने से यह पाचन प्रक्रिया को बहुत धीमा कर देता है। अगर आपको खाना ही है तो आप अंडे के सफेद वाले भाग और चिकन का सीने वाले हिस्से का इस्तेमाल कर सकते हैं। दोस्तों हमने आपको पिम्पल को बढ़ाने वाले भोजन के बारे में बताया। लेकिन इतना काफी नहीं है। इसके अलावा आपको भोजन में उन चीजों का भी इस्तमाल करना चाहिए। जो आपके शरीर के अंदर से पिम्पल की समस्या  को खत्म करने में आपकी मदद करें।इसके लिए आप फल और सब्जियों का अपनी डाइट में ज्यादा से ज्यादा शामिल करें।

दोस्तों अब तक इस पोस्ट में आपने ये खाना बनता है आपके पिम्पल को बद से बदतर, चीजे जो पिम्पल जो बढ़ाने का काम करती है ,पिम्पल वाले लोगो को बाहर का खाना पैकेट मिलने वाली चीजों का सेवन करे या नहीं,पिम्पल वाले लोग चीनी का सेवन करे या नहीं  के बारे में जानकारी प्राप्त की। हम उम्मीद करते है की ये जानकारी आपको जरुर पसंद आयी होगी।दोस्तों इस पोस्ट को आप उन लोगो तक पहुंचाने में हमारी मदद जरूर करे। जो की पिम्पल की समस्या को लेकर काफी ज्यादा परेशान है। जो चेहरे पर पिम्पल होने की वजह से अपना आत्मविश्वास खो चुके है। जिन्होंने सभी तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स का अपने चेहरे पर इस्तमाल कर लिया है। लेकिन पिम्पल अभी भी उन्हें परेशान कर रहे है।  धन्यवाद

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here